Tags

, , , ,

२ ३ बजे के बीच साकेत पीवीआर कंपाउंड में एक बेंच पर बैठा धूप सेंक रहा था, अच्छा लग रहा था थोड़ी फुर्सत में बैठना, तभी एक ३०-३५ वर्ष का युवक और एक अधेड़ उम्र के २ सज्जन आये और अपना परिचय देते हुए मेरी और हाथ बढ़ाया ..

Hi I Am Bansal (Young Guy)
Hi I Am Sunil (Middle Aged Man)
Hi Gopi कहते हुए मैंने अपना परिचय दिया.

Hope we are not disturbing you? ( One Asked)
उनके हाथों में बैग्स देख के लगा सेल्स मैन हैं तो मन में आया कह दूँ .. Yes You Are.
पर बोलने का मौका दिए बिना दोनों एक एक बगल में बैठ गए और एक ने अचानक से एक सवाल दाग दिया.

Do you know what is God & his kingdom?

अचानक और अनपेक्षित प्रश्न था, उत्तर सीधा सा भी था और गूढ़ भी तो विषय को विवादित ना बनाने के उद्देश्य से मैंने सरल मार्ग अपनाया और सीधा वाला जवाब दे डाला.

I have never seen him but yes the Entire Universe is his kingdom.

Without a delay of second he replied.

(आकाश में इशारा करते हुए बोला) No his kingdom is so far, out of this universe, there in heaven & no one seen him.

मैंने कहा “OK”

हालाँकि उसके प्रश्न पूछते ही समझ चुका था कि ये ईसाई धर्म प्रचारक हैं,और बचपन से लेकर आज तक कई बार ऐसे लोगों से टकराया, कुछ ने मुझे चुप करा दिया कुछ को मैंने, एक बार तो बात इतनी बढ़ गई थी कि जबलपुर में ग्वारीघाट में १ को किलोमीटरों से दौड़ाया था, लेकिन तब बात दूसरी थी एक तो लड़कपन दूसरी अज्ञानता, आज मैं शांत रहा और सुनने का प्रयास किया कि अगला क्या कहना चाहता है.

मैंने बड़े धीरे से पुछा Are yo christian & spreading christianity?
He replied…. No, not exactly we are from “Jehovah’s Witness” ..

मुझे ध्यान आया बगल वाले आर्य समाज के मंदिर के ठीक बगल में ही इनका भी चर्च है जहाँ ये संस्था है इसी नाम से, पर इसी बीच वो बाइबल निकाल चुका था और कुछ पन्ने पलटाकर एक पैराग्राफ पढ़कर सुनाने लगा और फिर बोला

There is only one god living in heaven, in his kingdom.

I asked ..
If heaven is his kingdom than what this universe is, what this earth and every living and nonliving things are for him?

He replied back “God’s creature & he is controlling it from the heaven”

Again I Asked .. Then why he didn’t included this universe in his kingdom and us as part of it?

He replied “Because he gave us freedom”

I Asked “Freedom of what?”

He replied “Of doing anything & everything in the senses”

I said OK.

He said .. But satan is ruling this world, he become more powerful?

I was confused & asked .. But you said we are creature of god and god has all the power to control anything here then how satan can rule on god’s creature?

LOL!! He replied “There is another kingdom somewhere aside of God’s kingdom and that is “Satan’s Kingdom” …

मैं हंसा और फिर हिंदी में ही कहा “ये सही है, मालपुआ किसी और का खाये कोई और”
शायद ठीक से समझ नहीं आया उसे मैंने फिर ठीक से पुछा

See God has extreme power & he is supreme lord then why he is not punishing satan?
He said it’s a verbal war among them.

हंसी तो बहुत आई पर शांति से काम लिया फिर पुछा … How?

He replied.. Its a long story but it was started from the time of Adam & Eve, satan hypnotized them and forced to do act against God, then God said I will let all the human free to act they like but those who will do according to me they will come to my kingdom in heaven.

मैं बोल्या Oh!! .. अबकी प्रश्न मेरे दिमाग में था, सो मार दिया.

Sir, be realistic and then reply for

“As we all know that every living thing is bound with the age limit, after that we all have to die. So this body is mortal and in Hinduism they burn dead bodies, in Islam they bury and in Christianity you also bury it, so it is mortal completely, then what is that thing in our body which will go to God’s kingdom after death?”

मैं अपेक्षा कर रहा था कि आत्मा के विषय में कुछ प्रकाश डालेगा पर दोनों के जवाब ने मुझे अचंभित भी किया और भ्रमित भी.

“See Gopi, God revived all the good people and take them into heaven with him”

मै पगला गया… मरे हुए को पुनर्जीवित, कुछ समझ नहीं आया तो मैंने पूछ डाला

“Sir, it’s 2014 and within these 2014 years how many people have been sent to god’s kingdom any example?

वो उंगलिओं पर कुछ गिनते हुए बोला, So many कुछ नाम भी गिनाये पर अपने को कहाँ याद रहने वाले हैं, पर बिना देर लगाये अपन ने फिर से पूछ लिया

How do you know they all went to god’s kingdom, did anybody dug their graves to check this? .. He did not replied back.

या तो उसके पास जवाब नहीं था या शायद समझ गया थी कि फंस गया है, और अपन ने तुरंत गोली चला दी. मुझे मौका मिल गया था तापने का सो ताप लिया

I smiled and asked “Are you sure what are you talking about? You saying something unrealistic and unbelievable.

He replied – “See Gopi, there are two bodies we have .. One is physical body and another is spiritual body which we can not see and this spiritual body will go to heaven?”

फिर तापा भाई को क्यूंकि पूरी बात के शुरू में ही उसने कुछ कहा था.

“In the beginning of entire conversation you said that “No one have seen God and in the middle you said there is Spiritual body which will go to heaven but no one can see that too. so if both God’s Kingdom and Spiritual body are hidden and can’t be seen how do you know these people went to heaven?”

He replied … I can say this “Because they all walked on God’s path or can say on the path shown by God”

मैंने सोचा पूरे संसार में यही २-४ लोग हैं जो भगवन के दिखाए हुए मार्ग पर चले और स्वर्ग में गए, और क्या गारंटी कि ये सच में उसी मार्ग में चले जो ईश्वर ने दिखाया, मेरे हिसाब से ईश्वर ने मांस भक्षण, मदिरा पान का मार्ग तो नहीं दिखाया होगा जिस पर आज पूरा पश्चिम चल रहा है, अपने पर संयम रखा और अब मैं चुप था.

वो बोला “Come to the shelter of God”

मैंने कहा “Yeah you are right but I am already into shelter of him, the only difference is I worship him in different form with the different name”

He again replied “No Gopi, Come to Jesus’s shelter”

I said “I am already in his shelter but I call him Ram then what’s the problem is God is one and worshipped with different names?”

He smiled and said “You seems interesting and good to talk to you but this is a vast topic to discuss, come to our center once”

एक परचा निकाल कर थमा दिया और बेंच से उठ गया, तभी मेरे दिमाग में आया कि एक बार पूछूं तो आत्मा के विषय में महाशय के क्या विचार हैं, सो पूछ लिया

“What do you think about “Aatman” .. I mean soul?

He replied – “No such thing exist, there is no soul only spiritual body”

मेरे लिए इस बात पर विश्वास कर पाना उतना ही कठिन था जितना इस बात पर विश्वास करना कि सूकर को गाज़र का हलवा बहुत पसंद है. मैं बचपन से यही सुनता आ रहा हूँ कि शरीर नश्वर है और एक न एक दिन इसे नष्ट होना है पर जो अमर और अनंत है वो आत्मा है जो कि शरीर बदलती रहती है और इसी संसार में तब तक भटकती है जब तक कि इसे मोक्ष नहीं मिल जाता, मोक्ष मिलने के पश्चात् बैकुंठ सिधारती है और मोक्ष कि प्राप्ति अत्यंत कठिन है अपितु असम्भव सी प्रतीत होती है.

मोक्ष प्राप्त करने के लिए वैसे कुछ ख़ास नहीं करना पड़ता बस इंद्रियों पर संयम हो जाये तो मोक्ष मिला समझो किन्तु कहने सुनने में जितना सरल लग रहा है उतना ही कठिन है.
अपनी गुत्थी में उलझा हुआ फिर पूछ बैठा –

“Ok, that means you believe in spiritual body which is soul for us, See, I am a Hindu and we believes in Aatman (Soul) in Hinduism, which is light of God or can say God itself, this practise in Hinduism is known as “Non-Duality” which means “Aham Bramhasmin(I am the god)”

और इस तरह बात होते होते धर्म ग्रंथों पर आई तो बाइबल के सबसे पिछले पन्ने पर छपी कुछ जानकारियां दिखाते हुए कहने लगे कि

“See Gopi, Bible is very old scripture and it is older than Veda’s and you must have to read this.”

I laughed and said “Ok I’ll read and I don’t have any problem but Veda’s I believe oldest scripture in the world”

He replied – “No, was written in 500 AD”

I explained him then “Boss may be you are right, may be veda’s come in light in 500 AD in the form of text but it existed from the beginning of “Sanatan Dharma” .. I said Do you know Veda’s are known as “Shruti”

He asked curiously “What Is Shruti?”

I Said … Practice of teaching something verbally and our ancestors were brilliant intellect, they were able to grasp anything verbally, they don’t forget gyan because they don’t rote it but they practice in real life, after a long time these things were become less practicable in modern life and human become more dependent on things which help them to remember something so then this Gyan came ito form of Text.

भाई थोड़ी देर चुप रहा फिर दुसरे को भी उठाया और बोला

“It was really nice meeting you Gopi, will catch you soon in next meeting, we have to go & may be you also have to go somewhere. May I have your number please so that I contact you to invite for a discussion”

अपन तो फ़ुर्सतिये ये अपन को कहाँ जाना पर उन्हें भागने कि जल्दी थी सो पहली बार मैंने किसी को अपना फोन नंबर दिया ताकि सच में वो बुलाये बहस के लिए, मुझे उम्मीद है बल्कि यकीन है आज घर या सेंटर जहाँ भी गया होगा सबसे पहले वेदों कि जानकारी इकट्ठी कि होगी उनके बारे में रटेगा और चला आएगा, अबकी मिला तो ऐसा फंसाऊंगा कि बची खुची जिंदगी हिन्दू धर्म के बारे पड़ने में और उसे समझने में बिता देगा.

थोड़ी देर बैठा रहा दिमाग में उधेड़बुन चल रही थी कि अचानक ध्यान आया पूरी बहस मैंने अंग्रेजी में कर ली, जानता हूँ सैंकड़ों गलतिया कि होंगी पर बोला तो अंग्रेजी में ना.

और हाँ नाम शायद गलत बताये थे दोनों ने, आज कल ये अच्छा तरीका निकाला है बेवकूफ बनाने का, परिचय में नाम ऐसा बताओ कि लोगों को लगे कि बंदा इस विचारधारा से इतना प्रभावित हुआ कि धर्म बदल लिया और अब लोगों को उस विचारधारा के मार्ग में चलने के लिए प्रेरित कर रहा है.

नक्कालों से सावधान !!

Jehovah's Witnesses

Christian Missionaries In Delhi.

Advertisements